Wednesday, 1 July 2015

Small Phrases & Sentences of order

Small Phrases: a group of two or more words that express a single idea but do not usually form a complete sentence.

Just coming.  मैं अभी आ रहा हूं।
Very well.  बहुत अच्छा।
Fine/Very good.  अच्छी बात है।
As you like.  जैसा आपको पसंद।
Anything else?  और कुछ?
That’s enough.  बस, रहने दो।
Thanks for this honor.  इस सम्मान के लिए धन्यवाद।
O.K.  अच्छा।
Why not?  क्यों नहीँ?
Not a bit.  थोड़ा सा भी नहीं।
Take care.  ध्यान रखना।
See you tomorrow.  कल मिलेंगे।
Yes, my all means!  हां, जरुर!
That is too much.  बहुत है।
Yes, Sir!  हां, सर!
Never mind/Dose not matter.  कोई फर्क नहीं / कोई बात नहीं।
Nothing else.  और कुछ नहीं।
Nothing special.  कुछ खास नहीं।
Welcome!  आइए।
Rest assured.  भरोसा रखें।
Long time no see.  बहुत दिन से देखा नहीं।
Goodbye!  गुड बाइ!
Bye bye!  बाइ बाइ!
Not the least!  जरा सा भी नहीं!

  • ये लगभग सभी वाक्यांश हैं, पूर्ण वाक्य नहीं, पर इनसे पूर्ण वाक्य जैसा काम लिया जाता है।
Sentences of order: Inverted Word Order. In the example we just used, the first statement used normal word order. Normal word order occurs when the subject comes before the verb. The subject is the main person or object in a sentence and the verb is the action word.

I say stop.  रुको।
Speak.  बोलो।
Listen.  सुनो।
Wait here.  यहां ठहरो।
Come here.  इधर आओ।
Look here.  इधर देखो।
Take it.  यह लो।
Come near.  पास आओ।
Wait outside.  बाहर प्रतीक्षा करो।
Go up.  ऊपर जाओ।
Go down.  नीचे जाओ।
Get off.  उतर जाओ।
Be ready/Get ready.  तैयार रहो /तैयार हो जाओ।
Be careful/Be cautious.  सावधान रहो / सावधान रहें।
Go slowly/Walk slowly.  धीरे धीरे / धीरे धीरे चलो।
Go at once.  तुरन्त जाओ।
Stop here.  यहां रुको।
Go straight.  सीधे जाओ।
Go away.  चले जाओ।
Get out.  निकल जाओ।
Do not forget.  भूलना नहीं।

  • कर्त्ता न होते हुए भी ये पूर्ण वाक्य हैं, क्योंकि इनमें क्रियाएं अपने स्थान पर हैं। ये आदेश (Command) के वाक्य हैं, इनमें ‘You’ (तुम) यानी कि कर्त्ता, अर्थ को देखते हुए अपनी ओर से लगाना पड़ता है।

----: Remember :----

  • ऊपर (Sentences of Command/Order) भाग में सभी आज्ञा या आदेश के वाक्य हैं। आप इन्हें थोड़े से प्रयत्न से प्रार्थनासूचक वाक्यों में भी बदल सकते हैं। ऊपर के सभी वाक्यों से पहले ‘Please’ जोड़े। इस तरह इन वाक्यों की क्रियाओं का अर्थ आदर सूचक हो जायेगा।
  • जब आप अपने अधिकारी से अवकाश मांगें या ऐसी ही कोई और प्रार्थना करें, वहां Please के स्थान पर Kindly का प्रयोग करें, जैसे  कृपया मुझे एक दिन का अवकाश प्रदान करें । Kindly grant me leave for one day. इन वाक्यों में Please शब्द का प्रयोग उचित नहीं है, इसलिए Kindly शब्द का प्रयोग किया जाना चाहिए।
  • Don’t – Do not शब्द का संक्षिप्त रुप है तथा can’t – can not का।

No comments:

Post a comment